Followers

Google+ Followers

Wednesday, March 30, 2011

नाज़ हो तुम मेरा

 

जब-जब मुझे धूप ने है सताया
तुम बने मेरे रहगुजर मेरा साया।
वैसे तो तुम ही इस तरह हो लिपटे
दिल के करीब बन कर मेरा हमसाया।
  




 
धूल मिटटी में जो मैं कभी बाहर चली भी जाती
तो तुम मेरे सर से मेरे चेहरे तक मुझे यूँ है ढकते। 
कि कब सुबहे से दोपहर हुई और कब घर से निकले
हुई शाम कब दिन गया गायब तुम संग ढलते ढलते।

  

कहीं जो मुझे कभी कोई दूर खड़ा यूँही एकटक निहार कर
मुझे मेरे बचपन को भूल कर नई-नई जवानी की याद है कराता।
न जाने कब हवा है चलने लगती और तुम अटखेलिया करते
जैसे तुमको मेरे दिल में चल रही हलचल का है पता चल जाता।



कभी हो तुम पीले कभी नीले तो कभी हो लाल
मेरे रंग रूप का तुमको है सदा ख्याल।
कभी जो भूली मैं घर पर अपना रुमाल
तुमने ही साथ दिया हमेशा साफ़ रखे मेरे गाल।

   



तुमको कोई मेरी लाज है कहता
कोई बताता तुम्हे मेरा नखरा।
पर सिर्फ़ तुम और मैं ही जानते है की
तुम सिर्फ़ मेरा दुपट्टा नही नाज़ हो तुम मेरा। 
~'~hn~'~ 

14 comments:

Manpreet Kaur said...

bahut hee ummda yar !! maja aa jata hai aapka post read kar ke ! have a good day dear!

some unspoken words said...

thats so lovely.. the way you have described is so sweet.

Hema Nimbekar said...

@manpreet
Ohh! that's so sweet of you...have a good day to you too..

Hema Nimbekar said...

@some unspoken words
thanks dear...

शालिनी कौशिक said...

Hema
you have written a poem on unique topic .very good .best of luck Hema .

Hema Nimbekar said...

@शालिनी कौशिक
thanks dear....WELCOME TO BLOG....keep visiting..

Simran said...

I think I have read this before..
Loved it a lot :)

Hema Nimbekar said...

@simran
yeah simran u hd read it on facebook notes or my other blog..

Alcina said...

Oh wow..just loved the feeling..aisa lag raha tha jaise main koi gana sunn rahi hun..aisa kyun di?

Motifs said...

I love your style...its beautiful.

हेमंत कुमार ♠ Hemant Kumar said...

Hema ji bahut bhavpoorna aur samvedansheel rachna...

Hema Nimbekar said...

@alpana di

thank you di...

Hema Nimbekar said...

@Alcina

snehu..u r feeling this becoz we all are experienced this during our teens days...hehehehehehe..

Hema Nimbekar said...

@हेमंत कुमार ♠ Hemant Kumar

...WELCOME TO MY BLOG...
Dhanyavaad Hemant ji

How u find my blog??

लिखिए अपनी भाषा में

Follow by Email

There was an error in this gadget
Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...